How to work Google Gemini AI: CHAT GPT की छुट्टी करने आ गया है Gemini AI, गूगल ने लॉन्च किया अपना खुद का पावरफूल ai टूल्स।

news active india
5 Min Read

How to work Google Gemini AI

How to work Google Gemini AI: आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस यानी मशीनी दिमाग, पूरी दुनिया में इसी की चर्चा है। Chat GPT ने दुनिया में तहलका मचा दिया है। इसको टक्कर देने के लिए गूगल ने Bard को लॉन्च किया था। लेकिन Chat GPT का जलवा फिर भी कम नहीं हो पा रहा था। अब गूगल ने एक बेहद पावरफुल एआई को लॉन्च किया है, जिसका नाम Gemini रखा गया है।

कंपनी ने इसमें Bard को भी शामिल किया है। ऐसी खबरें हैं कि गूगल इस नए मॉडल यानी Gemini के जरिए GPT 4 और Meta के लाइमा 2 को टक्कर देना चाहता है। इसलिए उसने Gemini को लॉन्च करने का फैसला किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दुनिया में Bard और Pixel के जो यूजर्स हैं, उनके लिए जल्द ही Gemini उपलब्ध होगा।

Google Gemini AI क्या है?

यह काफी एडवांस्ड एआई है और रियल टाइम में मल्टी टास्किंग कर सकता है। यह इतना पावरफुल टूल है कि टेक्स्ट, इमेज, वीडियो और कोडिंग पर एक ही वक्त में काम कर सकेगा। इस एआई को तीन वेरियंट में पब्लिक के लिए उपलब्ध कराया जाएगा। इनमें से पहले का नाम होगा Ultra।

यह बड़े Task कंप्लीट कर पाएगा। इसके बाद होगा Pro और फिर आखिर में होगा Nano, फिलहाल Pro वर्जन पहले से ही उपलब्ध है और Ultra वर्जन अगले साल की शुरुआत में जारी किया जाएगा।

कैसे काम करेगा Google Gemini AI

शुरुआत में यह अंग्रेजी भाषा में उपलब्ध होगा और 170 से ज्यादा देशों में इसे इस्तेमाल किया जा सकेगा। आने वाले वक्त में इसमें दूसरी भाषाओं का सपोर्ट जोड़ा जाएगा। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यह एआई इंसानों की तरह व्यवहार करने के लिए डिजाइन किया गया है।

यह कई मामलों में इंसानों की तरह ही काम कर सकेगा। यह चीजों को देखकर उनको पहचान सकेगा। कंपनी ने कहा है कि 13 दिसंबर से डवलपर्स और इंटरप्राइज कस्टमर्स Gemini Pro को इस्तेमाल कर सकेंगे। कंपनी के मुताबिक यह अभी तक का सबसे ताकतवर एआई टूल है।

Google Gemini AI देगी Chat GPT को टक्कर।

दरअसल, जब कंपनी ने Bard को लॉन्च किया था तो ऐसा माना गया था कि Chat GPT को टक्कर देने के लिए गूगल ने जल्दबाजी में फैसला किया है। लेकिन अब जब कंपनी Gemini को लॉन्च कर रही है तो यह साफ है कि यह Brad से काफी बेहतर और आगे की चीज है।

आसान भाषा में कहें तो Chat GPT अगर लैंग्वेज मॉडल है तो यह उससे आगे बढ़कर वीडियो और कोडिंग पर भी काम कर सकता है। जो Chat GPT अभी तक नहीं कर रहा है। गूगल की ओर से ऐसा दावा किया गया है कि Gemini Ultra लार्ज लैंग्वेज मॉडल पर काम करता है। इसमें मैथ से लेकर फिजिक्स तक और मेडिकल से लेकर हिस्ट्री तक की नॉलेज है। यह हर तरह की कोडिंग को समझ सकता है।

Google Gemini AI के वर्जन।

जैसा हमने बताया कि इसके तीन वर्जन होंगे, जिसमें से Ultra सबसे हाई वर्जन होगा। फिलहाल यह वर्जन अपने टेस्टिंग फेज में है और इस्तेमाल के लिए अभी उपलब्ध नहीं है, लेकिन जल्द ही इसे डवलपर्स और इंटरप्राइजेज के लिए उपलब्ध करा दिया जाएगा। इसके अलावा Pro मॉडल को Brad के साथ दुनिया भर में रिलीज किया गया है। Brad पर आपको Gemini Pro का स्पेशल वर्जन उपलब्ध होगा। वहीं Gemini नैनो को गूगल पिक्सल एट Pro पर रिलीज किया गया है। 

बिलकुल मुफ्त है Google Gemini AI

एक खास बात यह कि यदि आप Chat GPT 4 का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आपको पैसे देने होंगे। लेकिन Gemini यूजर्स के लिए फ्री है। गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने कहा कि यह अविश्वसनीय पल है और हम अभी तक उस सतह का कुछ हिस्सा ही खरोंच पाए हैं जो संभव है। यानी हम संभावनाओं के महज एक हिस्से तक ही पहुंच पाए हैं।

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *