vicky kaushal sam bahadur: vicky kaushal की नई फिल्म ‘सैम बहादुर’ बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचा रही है , जानिए फिल्मकी story ओर starcast के बारे में

news active india
10 Min Read

vicky kaushal sam bahadur

vicky kaushal sam bahadur: सेम बहादुर एक भारतीय हिंदी भाषा की युद्ध ड्रामा बायोपिक फिल्म है जो कि भारत के फील्ड मार्शल सेम मानेकशॉ के जीवन पर आधारित है। मेघना ने ‘राजी’ फिल्म से अपनी सफलता प्राप्त की ओर, मेघना गुलजार कहती है कि इस बार इस फिल्म को बनाना उसकेलिए एक बहुत बड़ी चुनौती थी क्योंकि यह फिल्म एक सेना अधिकारी की जीवनी पर आधारित थी। इस फिल्म में हमे विकी कौशल मुख्य भूमिका में दिखाई देंगे।

भारत के फील्ड मार्शल सेम मानेकशॉ

यह फिल्म सेम बहादुर के जीवन में हुए अवतार चढ़ा के बारे में दर्शाती है और उनके फील्ड मार्शल के पद पर पदोन्नति होने को इस फिल्म के माध्यम से बताया गया है।

सेम बहादुर के नाम से लोकप्रिय हुए मानेकशॉ ने 40 साल से अधिक समय तक भारतीय सेना की सेवा की और अपने इस कार्यकाल में कुल पांच युद्ध लड़े थे। अपने इस कार्यकाल के दौरान अनगिनित बार अपनी मौत को चकमा देने के लिए जाने जाने वाले सेम बहादुर को पद्म भूषण, पद्म विभूषण और वीरता के लिए मिलिट्री क्रॉस सहित सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कारों से सम्मानित किया गया था। यह फील्ड मार्शल के पद पर नियुक्त होने वाले भारत के प्रथम सेवा अधिकारी थे।

मानेकशॉ ने 1971 में हुए भारत-पाकिस्तान के युद्ध में भारत की जीत के लिए एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। विकी कौशल ने ” सेम बहादुर” फिल्म का ट्रेलर 13 अक्टूबर को जारी कर दिया था, जो की भारतीय दर्शकों को बहुत ही अच्छा लगा था, जिससे अब विकी कौशल के प्रशंसकों में इस फिल्म के लिए भारी उत्साह है। ट्रेलर का अंत “सेम  बहादुर” के प्रसिद्ध कथन के साथ होता है जो कथन इस प्रकार है … “हम रहे या ना रहे इस वर्दी का गौरव हमेसा रहना चाहिए”

वर्ष 2017 से ही “सेम बहादुर” के बायोपिक की कहानी शुरू हो गई थी मेघना गुलजार रहती है कि, विक्की इस किरदार के लिए एक उपयुक्त छवि है । और 2021 में सेम मानेकशा की 107वीं जयंती पर RSVP मूवीस द्वारा इस फिल्म को बनाने की घोषणा की गई थी।

इस फिल्म का पहला सूट 8 अगस्त 2022 को शुरू हुआ था जो की सेम मानेकशा के जीवन के 40 सालों की जीवन यात्रा की शूटिंग भारत के 13 अलग-अलग स्थानों पर करने के बाद इस फिल्म का अंतिम सूट 14 मार्च 2023 को हुआ।

फिल्म की story कुछ इस प्रकार है।

‘सैम बहादुर’ फिल्म की शुरुआत sam bahadur (विक्की कौशल द्वारा अभिनीत) के जन्म के साथ होती है, जहां उनके माता-पिता ने उनके लिए एक अलग नाम पर विचारकर रहे होते है। कहानी 1932 में भारतीय सैन्य अकादमी, देहरादून के उद्घाटन बैच में उनके नामांकन से लेकर देश के पहले फील्ड मार्शल के प्रतिष्ठित रैंक तक पहुंचने तक की है। कहानी असंख्य चोटियों और घाटियों से होकर गुजरती है, मानेकशॉ की युवावस्था से लेकर युद्ध के मैदान में उनके वीरतापूर्ण प्रदर्शन तक। विशेष रूप से, फिल्म सैम और याह्या खान (ज़ीशान अयूब खान द्वारा अभिनीत) के बीच गहन सौहार्द पर प्रकाश डालती है, जिन्होंने विभाजन से पहले भारतीय सेना में एक साथ सेवा की थी।

विभाजन के बाद मोहम्मद अली जिन्ना द्वारा पाकिस्तानी सेना में शामिल होने की पेशकश के बावजूद, मानेकशॉ ने दृढ़तापूर्वक भारत को चुना। कहानी सैम के निजी जीवन को जटिल रूप से बुनती है, जिसमें सिल्लू से उसकी शादी (सान्या मल्होत्रा द्वारा अभिनीत) और सेना के भीतर राजनीतिक उथल-पुथल शामिल है। कहानी द्वितीय विश्व युद्ध में सैम की भागीदारी पर प्रकाश डालती है और पंडित जवाहरलाल नेहरू जैसी प्रमुख हस्तियों के साथ उनकी बातचीत और अंततः इंदिरा गांधी के साथ वैचारिक मतभेदों पर प्रकाश डालती है।

फिल्म के शुरुआती खंड सैम के निजी जीवन और पेशेवर यात्रा को बखूबी जोड़ते हैं, फिर भी दर्शकों को संबंध बनाने में कठिनाई हो सकती है। पटकथा, विशेष रूप से पहले भाग में, गहराई का अभाव है, हालांकि उत्तरार्ध में गति मिलती है, और एक शक्तिशाली चरमोत्कर्ष में परिणत होता है। डॉक्यूड्रामा शैली में प्रस्तुत, कई दृश्य मंत्रमुग्ध करने में कामयाब होते हैं, जैसे गोरखा रेजिमेंट के साथ सैम की बातचीत, इंदिरा गांधी के साथ क्षण और उनके रसोइये के साथ उनका तालमेल। हालाँकि, फिल्म का मनोरंजन भाग छिटपुट बना हुआ है।

मेघना गुलज़ारके निर्देशन में बनी है यह फिल्म 

मेघना गुलज़ार, जो ‘तलवार’ और ‘राज़ी’ जैसी फिल्मों में अपने निर्देशन की कुशलता के लिए जानी जाती हैं, विकी कौशल की मुख्य भूमिका के साथ एक मजबूत विषय को बखूबी निभाती हैं। फिर भी, अलग-अलग अवधियों में कथा का विभाजन दर्शकों के जुड़ाव को कम कर देता है, जिसमें मानेकशॉ के अलावा चरित्र चित्रण में गहराई की कमी है। 1971 के युद्ध का चित्रण, हालांकि सम्मोहक है, कुछ दृश्यों में प्रत्याशित तनाव और रोमांच का अभाव है। विशेष रूप से, मेघना फिल्म में वास्तविक फुटेज को शामिल करके प्रामाणिकता के लिए प्रयास करती है, जो जय आई पटेल की सराहनीय सिनेमैटोग्राफी और नितिन वैद्य की रचना से पूरित है।

‘सैम बहादुर’ फिल्म की starcast

विक्की कौशल मानेकशॉ के सार को पूरी तरह से प्रस्तुत करते हैं, एक ऐसा प्रदर्शन करते हैं जो उनकी सूक्ष्म शारीरिक भाषा, संवाद वितरण और चरित्र के प्रति अटूट समर्पण से मंत्रमुग्ध कर देता है। ऐसी प्रतिष्ठित शख्सियत को चित्रित करने का भार वह बेदाग ढंग से अपने कंधों पर उठाते हैं। हालाँकि, सिल्लू के रूप में सान्या मल्होत्रा और इंदिरा गांधी के रूप में फातिमा सना शेख का योगदान महत्वपूर्ण प्रभाव डालने में विफल रहा। जबकि मोहम्मद जीशान अयूब ने जनरल याह्या खान की युवावस्था को प्रभावशाली ढंग से चित्रित किया है, सरदार पटेल के रूप में गोविंद नामदेव और पंडित नेहरू के रूप में नीरज काबी का प्रदर्शन उम्मीदों पर खरा नहीं उतरा। सेना से जुड़े सैनिकों और अधिकारियों का सहायक कलाकार मध्यम प्रदर्शन करता है।

 

  1. सेम मानेक्शा (सेम बहादुर) के रूप में विक्की कौशल
  2. सैम की पत्नी सीलू के रूप में सान्या मल्होत्रा
  3. इंदिरा गांधी के रूप में फातिमा शेख
  4. लॉर्ड माउंटबेटन के रूप में एडवर्ड सोनेंबलिक
  5. सरदार वल्लभ भाई पटेल के रूप में गोविंद नामदेव
  6. सिपाही मेहर सिंह के रूप में जसकरण सिंह गांधी
  7. मेजर ओएस कालकट के रूप में बॉबी अरोड़ा

इन मुख्य भूमिकाओं को निभाने वाले अभिनेताओं के अलावा इस फिल्म में अन्य भी कई अभिनेता शामिल है।

“सेम बहादुर” फिल्म के गाने

इस फिल्म में विशाली ददलानी, सोनू निगम और शंकर महादेवन आदि गायकों के द्वारा 4 संगीत रचित है जिनकी सूची निम्न प्रकार है…

संगीत गायक
बढ़ते चलो शंकर महादेवन, विशाली ददलानी और दिव्य कुमार
बांदा शंकर महादेवन
इतनी सी बात सोनू निगम और श्रेया घोषाल
दम है तो आजा सुनिधि चौहान

“सेम बहादुर” फिल्मकी रिलीज डेट

इस फिल्म का आधिकारिक ट्रेलर 13 अक्टूबर 2023 को रिलीज कर दिया गया था जो कि भारतीय दर्शकों के बीच काफी लोकप्रिय हुआ था यह फिल्म 1 दिसंबर 2023 को भारतीय सिनेमाघर में लॉन्च होगी इस फिल्म की टक्कर एनिमल फिल्म के साथ होगी।

फिल्म निर्माता डायरेक्टर

मेघना गुलजार

“सेम बहादुर” फिल्म के राइटर

* Meghna Gulzar
* Bhavani Iyer
* Shantanu Shrivastav

“सेम बहादुर” फिल्म के Music director

* शंकर महादेवन
* लॉय मेंडोंसा
* ऐहसान नूरानी

यह भी पढे : भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेईजी का बायोपिक ‘Main Atal Hoon’ की रिलीज डेट हुई अनाउंस, जानिए movie के बारे में

निष्कर्ष 

संक्षेप में, ‘सैम बहादुर’ विक्की कौशल के गहन चित्रण के माध्यम से उत्कृष्ट है, फिर भी मानेकशॉ के बहुमुखी जीवन के सार को पूरी तरह से पकड़ने में विफल रहता है, चरित्र की गहराई और कथा सुसंगतता में विसंगतियां इसके समग्र प्रभाव में बाधा डालती हैं।

FAQ’s

1.सैम बहादुर फिल्म का बजट कितना है?

यह फिल्म मात्र 50 करोड़ रुपए के बजट द्वारा निर्मित फिल्म है।

2.सैम बहादुर कोन था?

सैम बहादुर भारतीय सेना के प्रथम मार्शल फील्ड अधिकारी थे जिनका वास्तविक नाम सैम मानेकशा था।

 

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *